Jumma Mubarak Status

Jumma Mubarak Status: Jummah Mubarak literally means Happy Friday. Muslims offers weekly prayers (Namaz) on friday noon which is sacred to their religion and considered holy day according to Islamic beliefs

“Bah rahi Ajeeb hain Nadan-e-DiL ki Khuwaish
Ya Rab Amal kuch nahi aur Dil Talabgar Hain Jannat ka”
Jumma Mubarak

“बाह रही अजीब हैं नादान-ए-दिल की खवाइश
या रब अमल कुछ नहीं और दिल तलबगार हैं जन्नत का”
जुम्मा मुबारक

“Ay Allah Ek Moka Ham ko bhi de Safar-e-Makka ka
Suna Hain Tery Ghar aur Jannat mein Koi Fark Nah”
Jumma Mubarak

“ए अल्लाह एक मौका हमको भी दे सफर-ए-मक्का का
सुना हैं तेरे घर और जन्नत में कोई फर्क नहीं”
जुम्मा मुबारक

“SUKUN” OR “PYAAR” Ye 4 Cheezein Zindagi Ko Khubsoorat Banati Hain
Allah Pak Aap Ki Zindagi Main Kisi Aik Ki Bhi Kami Na Karay. ”
Jumma Mubarak!

“सुकून” और “प्यार” ये चार चीज़ें ज़िन्दगी मैं ख़ूबसूरत बनती हैं
अल्लाह पाक आप की ज़िन्दगी मैं किसी एक की भी कमी न करे”
जुम्मा मुबारक

“Allah Sab Ke Saat Hain
Tasvir-e-Kainat Ka Aks Hain ALLAH
Dil Ko Jo Jaga Day Wo Ehsaas Hain ALLAH
Ay Banda-e-Momin Tera Dil Kyun Udas Hain
Dil Say Zara Pukaar Teray Paas Hain Allah”
Jumma Mubarak.

“अल्लाह सब के साथ हैं
तस्वीर ए कैनात का अक्स हैं अल्लाह
दिल को जो जगा दे वो एहसास हैं अल्लाह
ए बाँदा ए मोमिन तेरा दिल क्यों उदास हैं
दिल से ज़रा पुकार तेरे पास हैं अल्लाह”
जुम्मा मुबारक

“Namaz ki To Wo Shan hai Jo Rok Deti Hain Tawaaf-e-Kaaba ko, Ay Insan
Tere Kamon ki kya Auqaat hai Jis ke liye Tu Namaz ko chor deta hain”
jumma mubark!

“नमाज़ की तो वो शान है जो रोक देती हैं तवाफ़-ए-काबा को ए इंसान
तेरे कामों की क्या औक़ात है जिस के लिए तू नमाज़ को छोड़ देता हैं”
जुम्मा मुबारक!

“Seene se Hamhare Kahin Emaan hai Ghayab
Muslim hum hain per Pehchan Ghayab
Dunia ki Lazzatoun Main bus Mashghol Hai Hum Sub
Aur Dil se Rab-Pak ka Farman Hui Ghayab
Hum Samne Kaise jayenge Khuda Ke
Jab Aakhirat ka Sabhi Saman hai Ghayab
Namaz Qhayam Kijye aur Apni Aakhirat Sawarein”
JUMMA MUBARAK!

“सीने से हम्हारे कहीं ईमान है ग़ायब
मुस्लिम हम हैं पर पहचान ग़ायब
दुनिया की लज़्ज़तो मैं बस मशग़ूल है हम सुब
और दिल से रब-पाक का फरमान हुआ ग़ायब
हम सामने कैसे जायेंगे खुदा के
जब आख़िरत का सभी सामान है ग़ायब
नमाज़ क़ायम कीजये और अपनी आख़िरत सवारें”
जुम्मा मुबारक!

“Aey ALLAH! Tujhe Teri Shan e Kareemi Ka Wasta
Hum Pe Karam Farma Kyunke Ke Hum
Kisi Imtehan Aur Aazmaish Ke Qabil Nahi Hain
Tu Maaf Karne Wala Hain Aur Muaafi Ko Pasand Karta Hain
Humain Bhi Muaaf Ker De,Es Jumma Ke Waste Reham Farma”

“ए अल्लाह! तुझे तेरी शान ए करीमी का वास्ता
हम पे करम फार्मा, क्यूंकि हम किसी इम्तेहान और आज़माइश के क़ाबिल नहीं हैं
तू माफ़ करने वाला हैं और माफ़ी को पसंद करता हैं
हमें भी माफ़ कर दे, इस जुम्मा के दिन के वास्ते रहम फार्मा”

ئیاللہ!
تجھےتیری شان ئی کریمی کا واستا
ہم پےکرم پھارما , کیونک ھم کسیامتیہان اور آجمائش کےقابل نہیںہیں , تو معاف کرنےوالا ہیں اور معافی کو پسند کرتا ہیں , ہمیں بھی معاف کر دے
اس جمما کےدن کےواستےرہم پھارما

HindStatus.Com